जिन्होंने खोजा इंसुलिन और बचायी मधुमेह से जान पढ़ें एक हड्डी रोग विशेषज्ञ सर फ्रेडरिक ग्रांट बैंटिंग के बारे में |

Share:
 हम सभी जानते हैं कि, इंसुलिन की कमी के कारण मधुमेह (diabetes) होता है| इंसुलिन आम तौर पर अग्न्याशय (pancreas) में बनता है और रक्त द्वारा इसका परिसंचरण होता है| यदि किसी कारण  से इंसुलिन अग्न्याशय में पर्याप्त मात्र में तैयार नहीं होता है, तो रोगी मधुमेह से ग्रस्त हो जाता है| इंसुलिन की खोज से पहले डायबिटीज का कोई इलाज नहीं था, कुछ मामलो में चीनी आदि का सेवन कम करने के बाद भी, रोगी अक्सर कोमा में चले जाते थे, और अंततः उनकी मौत हो जाती थी| कनाडा के चिकित्सक बैंटिंग ने अपने सहयोगियों के साथ मिलकर इंसुलिन की खोज की|

उन्होंने एक कुत्ते की अग्नाशय की नलिकाओं को बांध दिया और देखा कि कुछ समय बाद अग्नाशय की लैंगरहैन्स की द्वीपकाओं (Islets of Langerhans), की कोशिकाओं में इंसुलिन बन गया था| बैंटिंग ने इंसुलिन को निकालने में भी सफलता प्राप्त की| इंसुलिन के साथ मधुमेह रोगियों के इलाज से, रोहियों ने काफी राहत महसूस की| उनके घाव भी आसानी से सामान्य व्यक्तियों की तरह भर गए| बैंटिंग ने अपना सारा काम सिर्फ 8 महीने में एक साधारण सी प्रयोगशाला में किया| बैंटिंग एक महान चिकित्सक थे, उन्होंने अपनी खोज में मैकलिओड (Macleod) और बेस्ट (best) के योगदान को स्वीकार किया| इन तीनो वैज्ञानिकों को 1923 में सयुंक्त रुप से नोबेल पुरुस्कार मिला |

जीवन में प्रमुख घटनायें एवं प्रमुख वैज्ञानिक योगदान(Major Events in Life & Major Scientific Contributions) :-

  • जन्म – 14 नवंबर 1891, एलिसटन, ओंटारियो,
    कनाडा
  •  मृत्यु – 21 फ़रवरी 1941, न्यूफ़ाउंडलैंड, कनाडा |
  • 1916 में उन्होंने टोरंटो विश्वविद्यालय से चिकित्सा में शिक्षा प्राप्त की, और एम. डी. की उपाधि ली|
  •  लंदन, ओंटारियो में एक सर्जन के रूप में अपना अभ्यास प्रारंभ किया| वेस्टर्न ओंटारियो विश्वविद्यालय में शरीर विज्ञान(physiology) की शिक्षा भी दी|
  •  1923 में कनाडा के लिए संयुक्त रूप से प्रोफेसर जे. जे. आर. मेक्लेओड (Prof J.J.R. MacLeod) के साथ नोबेल पुरुस्कार जीतने वाले कनाडा के प्रथम व्यक्ति बने|
  •  अपनी पुरुस्कार राशि में से अधि उन्होंने श्री बेस्ट को दे दी, जिन्होंने शुगर के अध्ययन में उनका साथ दिया था| 1934 में बैंटिंग को नाइट कीउपाधि मिली|
  •  द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान वे सेना में शामिल हो गए| कनाडा में एक विमान दुर्घटना में उनकी मृत्यु हो गई |
  •  मधुमेह के उपचार के लिए द्वारा अग्न्याशय द्वारा स्रावित, इंसुलिन हार्मोन की खोज की खोज की और
    उसे शुद्ध रूप में निकला भी| 
  • साथ ही यह भी बताया की इंसुलिन का एक अणु 51 एमिनो एसिड से बना होता है, जो अलग-अलग स्तनपायी जानवरों में अलग- अलग होता है |


    “Insulin does not belong to me, it belongs to the world.”- A Biography of Sir Federick Grant Banting