नरेंद्र मोदी का जीवन परिचय व उनके जीवन से जुड़े विवाद (Narendra Modi Biography in hindi and their Controversies )

Share:

नरेंद्र मोदी का जीवन परिचय व उनके जीवन से जुड़े विवाद (Narendra Modi Biography in hindi and their Controversies )

नरेंद्र मोदी का जीवन परिचय व उनके जीवन से जुड़े विवाद (Narendra Modi Biography in hindi and their Controversies )


नरेन्द्र मोदी के बारे मे कुछ जानकारी

नाम (Name)नरेन्द्र दामोदरदास मोदी
निक नाम (Nick Name)नमो
कार्य (Profession)भारतीय राजनेता
पार्टी (Party)बीजेपी (भारतीय जनता पार्टी )
जन्म तारीख (DOB)17 सितम्बर 1950
आयु (Age) (2018)68 वर्ष
जन्म स्थान (Birth Place)वडनगर , गुजरात , इंडिया
राशी (Zodiac Sign)वृश्चिक
नागरिकता (Nationality)भारतीय
ग्रहनगर(Home Town)वडनगर , गुजरात , इंडिया
स्कुल (School)हायर सेकेंडरी स्कूल , वडनगर , गुजरात
कॉलेज (College)गुजरात यूनिवर्सिटी अहमदाबाद , इंडिया
यूनिवर्सिटी ऑफ़ दिल्ली नई दिल्ली इंडिया
धर्म (Religion)हिन्दू
पता (Address)7 रेस क्रॉस रोड नई दिल्ली
हॉबी (Hobbies)योगा करना, पढना
शिक्षा (Education Qualification)बीए (राजनीती विज्ञानं)
एमए  (राजनीती विज्ञानं)

ब्लड ग्रुप (Blood Group)
ए (+)

जाति (Cast)
(ओ बी सी) पिछड़ा वर्ग , मोद घंची

फेसबुक (facebook account)
https://www.facebook.com/narendramodi/

ट्विटर ( Twitter)
https://twitter.com/narendramodi?lang=en
जन्म स्थान एवं पारिवारिक जानकारी (Early Life , Birthand Family Information)
पारिवारिक जानकारी संक्षिप्त में :
माता (Mother)हीराबेन मोदी
पिता (Father)दामोदर दास मूलचंद मोदी
भाई (Brother)सोम मोदी (75 वर्ष)
अमृत मोदी (72 वर्ष)
प्रलाद मोदी (62 वर्ष)
पंकज मोदी (57 वर्ष)
बहन (Sister)बसंतीबेन हसमुखलाल मोदी
पत्नी  (Wife)यशोदाबेन चिमनलाल मोदी
बच्चे (Children)नहीं है

लुक टेबल ( Look Table ):
नरेन्द्र मोदी सबसे अधिक लोकप्रिय प्रधानमंत्री है , जो कि 24 घंटो में से 18 घंटे कार्य करते है. मीडिया में आये दिन इनके लुक और कपड़ो को लेकर भी काफी चर्चा रहतीं है, कई लोगों द्वारा तो इनके स्टाइल को भी फॉलो किया जाता है . ये आने वाले वर्ष में अपनी उम्र के 70 साल पुरे करने वाले है फिर भी इनकी फिटनेस चेहरे से झलकती है. निचे इनके शारीरिक बनावट और लुक के बारे में जानकारी दी गई है .
लम्बाई (Height)सेंटीमीटर मीटर में – 170 cm
मीटर में – 1.70 m
फीट में – 5’ 7‘’
वजन (Weight)किलोग्राम में – 75 के जी
पौंड में – 165 आई बी एस
शारीरिक बनावट (Figure)36-27-35
आँखों का रंग  (Eye  color)काला
बालो का रंग (Hair Color)सफ़ेद

नरेंद्र मोदी का आरम्भिक जीवन - 


 नरेन्द्र मोदी का जन्म गुजरात के बडनगर गावं में हुआ , जो कि मेहसाना जिले के अंतर्गत आता है.  यह इनके माता पिता के तीसरे पुत्र है और यह कुल 6 भाई बहन है. इनका बचपन बेहद कठिनाइयों से गुजरा ये एक कच्चे मकान में रहते थे , इनके लिए दो समय की रोटी की व्यवस्था करना भी एक चुनोती का काम था. इनका परिवार बहुत गरीब था इनके पिता चाय का ठेला लगाते थे , और ये स्वयं भी परिवार की मदद के लिए पिता के साथ काम में हाथ बटाते थे.  वे रेल की बोगी में जा कर चाय बेचने का काम करते थे और इनकी माँ लोगो के घर जा कर बर्तन मांजने का काम करती थी . केवल 17 वर्ष  की आयु में ये अपना घर छोड़ के भाग गए थे . इन्होने कई आश्रमों का भ्रमण किया जैसे स्वामी विवेकानंद के हिन्दू आश्रम , कोलकत्ता के बेलूर मठ में स्थापित आश्रम और कई आश्रम में जा कर ज्ञान अर्जित किया और दो साल बाद अपने घर लौटे . इसके बाद इन्होने आर एस एस में शामिल होने का निर्णय लिया , साथ ही अपनी पढाई भी जारी रखी . इन्होने लोगों  की समस्याओं को करीब से जाकर समझने का प्रयास किया ,ये दिन रात लोगो की सेवा किया करते थे , ये इसे अपना कर्तव्य मानते थे. सन 1975 में भारत में राजनीतिक झगडे के चल रहे थे , इंद्रा  गांधी जो उस समय  भारत की प्रधानमंत्री थी उन्होंने आपातकाल घोषित कर दिया था और आर एस एस को बंद करने का एलान कर दिया था. लेकिन मोदी जी ने आर एस एस में काम करना बंद नही किया और वे ख़ुफ़िया तरह से काम करते थे और लोगो की मदद करते थे. इनकी  कार्यशेली से बीजेपी के वरिष्ट बहुत प्रभावित हुए और इन्हें भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता का प्रस्ताव मिला .

शिक्षा (Education):
नरेन्द्र मोदी का मन पढाई में कम था लेकिन वे खेलकूद और भाषण में बेहद अच्छे विद्यार्थी थे इन्होने कई भाषण और वाद विवाद प्रतियोगिता में भाग लिया . परिवार की मदद करने के लिए इन्होंने भी अपने भाई के साथ मिलकर एक चाय की दुकान खोली थी  पर पढाई करना नही छोड़ा. इन्होने आरंभिक शिक्षा गुजरात के वडनगर के हायर सेकेंडरी स्कूल से प्राप्त की , और आगे इन्होने दिल्ली में रह कर डिस्टेंस एजुकेशन कोर्स द्वारा राजनीती विज्ञानं में  बी. ए. किया.इसके बाद इन्होंने पोस्ट ग्रेजुएशनके लिए राजनीती विज्ञानं में गुजरात यूनिवर्सिटी से एम.ए.में दाखिला लिया

मेरिज लाइफ (Marriage ) :
नरेन्द्र मोदी की शादी उनके पिता ने 13 साल की उम्र में जशोदाबेन से तय कर दी थी और मात्र 2 वर्ष बाद इनका विवाह भी हो गया था . अब ये दोनों पति पत्नी साथ नही रहते शादी के कुछ दिनों तक ये दोनों साथ रहे फिर आपसी सहमती से अलग रहने लगे . इनकी कोई संतान नही है . मोदी जी का ऐसा मानना है कि जब तक कोई व्यक्ति परिवार के बंधन में होता है तब तक वह तब तक वह भ्रस्टाचार के लिए कोई ठोस कदम नही उठा सकता यदि व्यक्ति पर परिवार और बच्चो की चिंता नही होती तो वह भ्रस्टाचार के खिलाफ जंग लड़ने में ज्यादा सक्षम होता है. परिवार की जिम्मेदारी देश सेवा में विघ्न डालती है . इन्होने इनका पूरा जीवन देश की सेवा में समर्पित कर दिया है .और देश को अपने परिवार से भी अहम भूमिका प्रदान की है .

करियर ( Career ):
इन्होने अपने भविष्य के लिए बचपन से ही राह बना ली थी .इन्होंने मात्र 17 साल की उम्र में घर से भाग कर भारत भ्रमण किया और अलग अलग जगह पर जा कर ज्ञान अर्जन किया और लोगो की समस्याओ को करीब से जाना.सन 1971 में ये आर एस एस के सदस्य और प्रचारक बने. वे वहां जल्दी उठ जाते थे और सारा दिन कार्य करते थे , देर तक सोते थे . प्रचारक होने के कारण इन्होने गुजरात के अलग अलग हिस्सों में जाकर लोगों की समस्या को करीब से जाना . विषम परिस्थितियों में भी इन्होंने अपने संघ के लिए कार्य किया  और सरकार की राजनीती में जो कमिया थी उन्हें उजागर किया. इनकी कार्य कुशलता को देखते हुए इन्हें अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् का प्रभार सौपा गया.1985 में इन्हे  बीजेपी में शामिल होने का प्रस्ताव दिया गया . ये अपनी कार्य कुशलता से बीजेपी का आधार मजबूत करते रहे . इन्होने एक किताब भी लिखी जिसका नाम था “संघर्षमां गुजरात ” जिसमे इन्होने गुजरात की राजनिति के बारे में लिखा था .
1988 में ये गुजरात में आयोजक सचिव के पद पर नियुक्त किए गए .  1990 में इन्होंने लाल कृष्ण आडवानी की अयोध्या वक्र यात्रा का भव्य आयोजन किया . इनका महत्व बीजेपी में बढ़ता चला गया .  1995 में विधान सभा के  चुनावो में बहुमत से भाजपा को विजय प्राप्त हुई लेकिन शंकर लाल वाघेला से मोदी की कुछ कहा सुनी हो  गई शंकर लाल वाघेला ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया.इसके बाद गुजरात का मुख्यमंत्री का पद केशु भाई पटेल को दिया गया. मोदी को बीजेपी का राष्ट्रीय सचिव बनाया गया और इन्हें दिल्ली भेजा गया . यहाँ भी इन्होने अपना कार्य बखूबी निभायाऔर अपनी कर्तव्यनिष्ठा का परिचय दिया .
  • 2001 में गुजरात के मुख्यमंत्री केशुभाई पटेल की तबियत बिगड़ने लगी और बीजेपी कई सीटो से हारने लगी और बीजेपी की हालत ख़राब होने लगी. तो फिर इसी साल अक्टूबर में गुजरात  मुख्यमंत्री का पद मोदी जी को सौपा गया .
  • 7 अक्टूबरसे इन्होंने अपना मुख्य मंत्री का पद ग्रहण कर कार्य प्रारंभ किया. इसके बाद राजकोट विधान सभा चुनाव में हिस्सा लिया और कांग्रेस के अश्विन मेहता को हराया . मुख्य मंत्री पद पर रहते हुए इन्होने कई अच्छे कार्य किए और गुजरात को फिर से मजबूत बनाया .
  • इन्होने गाँव गाँव में जाकर बिजली पंहुचाई और टूरिज्म को बढावा दिया.पहली बार किसी राज्य की सभी नदियों को एक साथ जोड़ा गया,जिससे राज्य में पानी की समस्या हल हो गई .
  • महाद्वीप के सबसे बड़े सोलर सिस्टम का निर्माण इन्होंने अपने स्टेट गुजरात में किया. इन सब के अलावा भी इन्होने और कई बेहतर कार्य किए और गुजरात को सबसे अच्छा और बेहतर राज्य बनाया और ये गुजरात के सबसे लोकप्रिय मुख्यमंत्री बन गए .
  • मार्च 2002 में गोधरा कांड से इनका नाम जोड़ा गया. इसके लिए न्यूयॉर्क टाइम्स ने मोदी को जिम्मेदार ठहराया और इसके बाद कुछ विपक्षी दलों और कॉग्रेस सरकार ने मोदी से इस्तीफे की मांग की .
  • 28 फरवरी 2002 को गुजरात के कुछ इलाको में झगड़ें बहुत अधिक बड गए , जिसमे 1200 से भी ज्यदा लोगों की मौत हो गई . इस घटना के बाद इसकी जाँच करने के लिए उच्चतम न्यायलय ने एक जाँच कमिटी बिठाई. .
  • इस कमिटी की जाँच रिपोर्ट के आधार पर यह बात साबित हुई कि इसमें नरेन्द्र मोदी का कोई हाथ नही था और वे बेगुनाह है .
  • उनके अच्छे कार्य और सही फैसले के लिए गुजरात सरकार ने उन्हें लगातार 4 बार मुख्यमंत्री बनाया .
मुख्यमंत्री से प्रधानमंत्री बनने का सफ़र :
  • गुजरात में इनकी लोकप्रियता देख कर भाजपा के वरिस्ट नेताओ ने इन्हें 2014 के लोक सभा चुनाव में प्रधानमंत्री उमिद्द्वार घोषित किया .इन्होने 15 सितम्बर 2013 से रेलिया शुरू की , मोदी ने पुरे देश में 437 रेलिया की , कई राज्यों को शामिल किया यह पूरा चुनाव इन पर निर्भर था. इन्होंने सोशल मीडिया का भी भरपूर प्रयोग कियाऔर सभी के सामने अपनी बात रखी .
  • मोदी जी ने रेली रेवारी में एक्स- सर्विसमैन की रैली पहली रैली थी. इस दौरान कई शहरो में घूम घूम कर 1350 थ्री डी टेक्नोलॉजी की रैली निकाली .
  • मोदी जी ने चाय का स्टाल लगाया और “चाय पर चर्चा ”पर लोगो के करीब जा कर आम जनता के मन की बात जानने का प्रयास किया .
  • इन्होंने 196 भारत विजय रैली का आयोजन किया . वड़ोदरा और वाराणसी में कई रोड शो किए, मोदी का यह प्रयास ऐतिहासिक बन गया.
प्रधानमंत्री पद की प्राप्ति :
  • इनकी विकासशील कार्य , अद्भुत भाषण और देश से उनके प्रेम और इनकी सकारात्मक सोच के लिए इन्हें भारी मात्रा में वोट मिले और 26 मई 2014 को ये 15 वे प्रधानमंत्री बने .बीजेपी की स्थिति बहुत मजबूत हो गई .
  • ये बहुत ही मेहनती व्यक्ति है , ये 18 घंटे काम करते है और कुछ ही घंटे आराम करते है इनका मानना है कि कड़ी मेहनत से कभी थकान नही होती इससे हमें आत्मसंतोष प्राप्त होता है .
  • इनके प्रधानमंत्री बनने से देश की जनता को इनसे कई आशा बन गई , इन्होने घोषणापत्र में विदेशो से काला धन वापस लाने ,जीडीपी का नवीनीकरण करने , मुद्रा स्फीति की दर को कम करने , कई नई योजनाएं और एजेंडे का निर्माण किया .
  • इनकी सरकार बनने के 100 दिन बाद इन्होने जनता से सीधे बात की. और आम जनता को अपनी भविष्य की योजना के बारे में जानकारी प्रदान की .
  • इनके आलोचक इन्हें हमेशा अपने निशाने पर रखते है लेकिन इनकी कुछ बातो के लिए इनके आलोचक भी इनकी प्रशंसा करते है .
मोदी सरकार की मुख्य योजनाएँ ( Schemes of Modi Government ) :
  • स्वच्छ भारत अभियान _ स्वच्छ भारत स्वस्थ भारत इस योजना में देश में स्वछता के लिए जागरूकता फैलाई गई .
  • प्रधानमंत्री उज्जवला योजना _ प्रधानमंत्री उज्वला योजना के द्वारा गाँव गाँव में महिलाओं को गैस सिलेंडर उपलब्ध कराई गई . देश की महिलाओं को खाना बनाने के लिए ईंधन जुटाने की समस्या के मुक्ति मिली .
  • जन धन योजना _ इस योजना के तहत देश के आर्थिक विकास के लिए प्रयास किया गया है . इसके द्वारा देश के हर नागरिक को बैंक में खाता खोलने के लिए जागरूक भी किया गया.
  • इसके आलावा इनकी अन्य प्रमुख योजनाए कृषि सिचाई योजना,ग्रामीण कोशल योजना , फसल बीमा योजना , ई बस्ता योजना , सुकन्या समृधि योजना , पड़ेगा इंडिया – बढेगा इंडिया योजना , प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना ,जीवन ज्योति बीमा योजना , मुद्रा बैंक योजना , मेकइन इंडिया योजना , गरीब कल्याण योजना , नई मंजिल योजना , स्टैंडअप योजना , सागर माला प्रोजेक्ट , अटल पेंशन योजना , आवास योजना , जन औषधि योजना , डिजिटल इंडिया आदि है. इसके आलावा भी और कई योजनाएँ है जो आम जनता के हित में मोदी सरकार द्वारा चलाई जा रही है .
  • इसके अलावा तीन तलाक के मुद्दे पर भी कड़े नियम बना कर मुस्लिम महिलाओ के हित में कार्य किया गया है, जो कि एक सराहनीय कदम है.
अवार्ड्स और अचीवमेंट ( Awards And Achivment ) :
प्रधानमंत्री मोदी सबसे अधिक लोकप्रिय और प्रभावशाली व्यक्ति है इन्होने इनकी अद्भुत कार्यशेली और भिन्न विचारधारा के दम पर अपनी एक उत्कृष्ट पहचान बनाई है. इन्होने राजनीतिक करियर में कई पुरूस्कार प्राप्त किए है इनके अवार्ड और अचीवमेंट की सूचि निचे दी गई है ,
क्रमांक(Number)सन (Year)अवार्ड का नाम
(Name Of Award)
2003यू एन ससकावाअवार्ड–आपदा प्रबंधन और जोखिम कम करने के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य के लिए .
2004सीएपीएएम गोल्ड अवार्ड – कॉमन वेल्थ एसोसिएशन द्वारा प्रशासन में नव परिवर्तन लाने के किए .
2004बिजली क्षेत्र में गुजरात को शीर्ष सम्मान प्राप्त हुआ .
2005एलिटेक्स पुरूस्कार –भारत के विज्ञानं और प्रोद्योगिक विभाग द्वारा .
2005स्वर्ण पुरुस्कार –गुजरात ने नई दिल्ली में भारत अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेला में स्वर्ण पुरुस्कार .
2005गुजराती साप्ताहिक “चित्रलेखा ” के पाठकोने नरेन्द्र मोदी को वर्ष का व्यक्ति के रूप में रेट किया है
2005भारत टेक टेक्नोलॉजी द्वारा विधुत क्षेत्र सुधार और पहल के लिए भारत टेक उत्कृष्टता पुरुस्कार .
2006इण्डिया टुडे द्वारा आयोजित राष्ट्रव्यापी सर्वेक्षण में , श्री नरेन्द्र मोदी को देश के सर्वश्रेष्ट मुख्यमंत्री घोषित किया गया .
2007इण्डिया टुडे ओ आर जी मार्ग द्वारा आयोजित देशव्यापी सर्वेक्षण में तीसरी बार सर्वश्रेष्ट मुख्यमंत्री का चयन , 5 साल के कार्यकाल के दौरान किसी भी सी एम के लिए एक अद्वितीय उपलब्धि है .
प्रधानमंत्री बनने के कुछ ही महीनो के बाद सभी सरकारी स्चूलो में शोचालय की सुविधा प्रदान करने की व्यवस्था की गई .
2009एफ डी आई मेग्ज़िन द्वारा एफ डी आई पर्सनालिटी ऑफ़ द इयर से सम्मानित किया गया .
2012एशिया टाइम्स के कवर पेज पर मोदी को चित्रित किया गया .
2014फोब्स पत्रिका में सबसे शक्तिशाली लोगो की सूचि में इनका नाम 15 वे स्थान पर नामांकित किया है .
2014टाइम पत्रिका द्वारा दुनिया के 100 सबसे प्रभावशाली लोगो की सूचि में शामिल किया गया है .
2015टाइम पत्रिका द्वारा दुनिया के सबसे प्रभावशाली लोगो की सूचि में ट्विटर और फसबुक पर दुसरे सबसे ज्यादा अनुयायी राजनेता के रूप में नामित किया गया है .
2016मेडम तुस्सौद वैक्स म्यूजियम में इनका स्टेचू स्थापित किया गया .
2018मोदी को भारत और फिलिस्तीन के बीच संबंधो को बढावा देने के लिए सर्वोच्च फिलिस्तीनी सम्मान “ फिलिस्तीनी राज्य के ग्रेंड कॉलर ” से सम्मानित किया गया .
नेट वर्थ और अन्य जानकारी  ( Net Worth and other details ) :
इन्होने देश प्रेम के लिए राजनीती में कदम रखा. इनका परिवार बेहद ही गरीब था और इतनी कठिन परिस्थितियों से गुजरने के बाद भी इन्होंने देश के शीर्ष पर खुद को पहुचाया यह बहुत बड़ी बात है. इनकी कुल संपत्ति इस प्रकार है.
आय (Salery) 1.58 लाख प्रति महिना एवं अन्य सुविधाएँ
1 करोड़ / एपिसोड
कुल संपत्ति (Net Worth) 1.41 करोड़
नरेन्द्र मोदी  के बारे में कुछ बातें ( Some other information about Narendra Modi ):
  • मोदी जी बचपन से इन्डियन आर्मी में जाना चाहते थे , इसलिए इन्होने सैनिक स्कूल में भी एनरोलमेंट कराया था. लेकिन पैसे की कमी के कारण ये सैनिक स्कूल में दाखिला नही ले पाए और इनका यह सपना अधुरा रह गया .
  • इन्होंने 17 साल की उम्र में सन्यास लेने का फैसला लिया और ये घर छोड़ कर चले गए थे ,और इन्होने देश के अलग अलग शहरो की यात्रा की.इन्होने सयुक्त राज्य अमेरिका में जनसंपर्क और छवि प्रबंधन पर तीन महीने का कोर्स किया है .
  • ये स्वामी विवेकानंद के अनुयायी है. ट्विटर पर बराक ओबामा के बाद ये विश्व के दुसरे सबसे ज्यादा लोकप्रिय राजनेता है इनके 12 मीलियन फोलोवर्स है.मोदी और बराक ओबामा अच्छे मित्र भी है .
  • जब ये गुजरात के मुख्यमंत्री थे तब 2010 के इनके कार्यकाल में गुजरात राज्य वर्ल्ड का दुसरा सबसे अच्छा राज्य बन गया था.गुजरात के मुख्यमंत्री के 13 साल के कार्यकाल में इन्होने एक दिन की भी छुट्टी नही ली .
  • नरेन्द्र मोदी भारत में सबसे अधिक टेक्नो सेवी राजनेता है ये सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर बहुत एक्टिव है जैसे ट्विटर , फेसबुक और इन्स्टाग्राम .
  • ये भारत के ऐसे प्रथम पीएम है जिसका जन्म 15 अगस्त 1947 के बाद हुआ था.ये हमेशा हिंदी में हस्ताक्षर करते है .
  • 8 नवम्बर 2016 को इन्होने एक चोकाने वाला कदम उठाया और भारत प्रशासन के इतिहास में एक बड़ा फैसला सुनाया.इन्होंने भारत की दो बड़ी और मुख्य राशी 500 और 1000 के नोट बंद कराने का ऐलान किया .
  • नरेन्द्र मोदी साधुसंतों से बेहद प्रभावित थे , इन्होने सन्यासी बनने का फैसला ले लिया था और ये अपना घर छोड़ कर चले गए थे और 2 साल तक हिमालय की वादियों में रहे कुछ समय बाद ये वापस लौट आए.फिर इन्होंने अपने भाई के साथ मिलकर चाय की दूकान खोली और एक गरीब आम आदमी के जीवन की कठिनाइयो से सामना किया .
  • नरेन्द्र मोदी एक सफल राजनेता है और इतनी बुलंदियों को हासिल करने के बाद भी ये शराब सिगरेट और कोई भी नशीले व्यसन का सेवन नही करते है ना मांसाहार का सेवन करते है . ये शुद्ध शाकाहारी जीवन जीते है और ये समय के पाबंद है रोज सुबह 5 बजे उठ जाते है और नित्य योग करते है . ये एक आदर्श जीवन जीते है .
  • मोदी जी गुजरात के जगदीश मंदिर में विशेष आस्था रखते है प्रधानमंत्री बनने के बाद ये पहले जगदीश मन्दिर के दर्शन के लिए गए थे 
  • जापान के प्रधानमंत्री शिमजू केवल चार लोगो को फॉलो करते थे नरेन्द्र मोदी इनमे से एक है. अब ये 11 लोगो को फॉलो करते है जिनमे नरेन्द्र मोदी और राजनाथ सिंह शामिल है .
  • मोदी अपनी माँ को सबसे अधिक प्रेम और सम्मान करते है वे कोई भी नया काम करने के पहले अपनी माँ से आशीर्वाद लेने जाते है .
  • बचपन में इन्हें सभी नरिया बुलाते थे । लेकिन इन्हें यह नाम बिलकुल पसंद नही था । हलंकि इनकी माँ आज भी इन्हें प्यार से नरिया ही बुलाती है ।
  • नरेन्द्र मोदी की शादी 18 साल की उम्र में अपने पड़ोस में रहने वाली जशोदा चिमन लाल मोदी से हुआ लेकिन मोदी के मन में देश भक्ति की भावना भरी थी इसलिए वे अपनी पत्नी और परिवार को छोड़ कर चले गए थे. इनकी पत्नी को इनसे कोई नाराजगी नही है बल्कि उन्हें मोदी की इस देश प्रेम की भावना पर बहुत गर्व है .
नरेन्द्र मोदी  की पसंद ( Narendra Modi Likes And Dislikes ):
खाना (Food)खिली हुई खिचड़ी , बेसन खांडवी , उन्धियो , बादाम पिस्ता का श्रीखंड , सफ़ेद खट्टा ढोकला
एक्टर (Actor)अमिताभ बच्चन
फिल्म (Film)शोले , अंदाज़ , सीता और गीता
किताब (Book)भगवत गीता , रामायण
रंग (Color)केसरी
राजनेता (Politician)श्यामा प्रसाद मुखर्जी , अटल बिहारी बाजपेई
नेता (Leader)मोहनदास करमचंद गाँधी , स्वामी विवेकानंद
नरेन्द्र मोदी से जुड़े कुछ विवाद ( Controversy ) :
  1. सुपर मुख्यमंत्री : गुजरात के मुख्यमंत्री बनने के बादकई मामलो में कामयाब होने के बाद विरोधियो के द्वारा इन्हें सुपर सीएम कहा जानें लगा.बीजेपी के नेताओंका कहना था कि ये संगठन के नाम पर अपनी शक्तियोंका उपयोग करते है .
  2. सुखराम को समर्थन : बीजेपी नेता सुखराम के आवास स्थान से 3.6 करोड़ रूपये नगद पाए गए थे. इस समय मोदी बीजेपी महासचिव के रूप में हिमाचल प्रदेश के प्रभारी थे. इस समय यह चर्चा हुई थी कि इन्होने बिजली जब्त करने के मामले में सुखराम से सौदा किया 
  3. जसोदाबेन से विवाह : मोदी और जसोदाबेन का बाल विवाह हुआ था . यह बात मीडिया द्वारा कई बार प्रकाशित की गई है और समय पर मुद्दा उठाया जाता है .
  4. यू एस वीजा : इन्हें कुछ कारणवश यू एस का वीजा प्राप्त नही हुआ था लेकिन मुख्यमंत्री बनने के बाद इन्हें सह्सम्मान अमेरिका द्वारा न्योता दिया गया और वीजा प्राप्त हुआ .
  5. प्रेमिका जॉब : मोदी ने स्वर्गीय सुनंदा पुष्कर को शशि थरूर आईपीएल पसीना इक्विटी मामले में 50 करोड़ रूपये की प्रेमिका कहा था. इस बात को ट्विटर पर बहुत उछाला गया .
  6. हरेन पंड्या की हत्या : 2003 में गुजरात गृहमंत्री हरेन पंड्या की हत्या कर दी गई थी इनकी पत्नी ने इसे राजनैतिक हत्या कहा और मोदी सरकार पर उंगलिया उठाई .
  7. कुपोषण : मोदी ने बिजली सुधार और सड़क सुधार में अच्छे कार्य किए लेकिन विरोधी पार्टी का कहना है , मोदी के राज्य में कुपोषण की संख्या में वृधि हुई है .
नरेन्द्र मोदी अपने आप में एक बहुत बड़ी शक्सियत है इनके देश प्रेम की भावना को सभी जानते है  . बीजेपी के कई चुनावों में की जीत मोदी के नाम से हुई है. इनके आरंभिक जीवन को लेकर कई बातें विरोधी पक्ष द्वारा बताई गई लेकिन इनकी लोकप्रियता में कोई कमी नही आई है . इन्होने कई बड़े कदम उठाए जैसे नोटबंदी , जी एस टी जिनका विरोधी द्वारा बहुत विरोध और निंदा की गईपर अब भी देश की जनता को इनसे कई उम्मीदे है. भारत की जनता की आशाएं अब सिर्फ इनपर  टिकी है कि देश में हो रहे भ्रष्टाचार , महगाई और अन्य सभी समस्याओंका कोई हल जल्द निकलेगा . हमारी ऐसी कामना है कि ये देश के हित के लिए कार्य करे और देश को उन्नति के पथ पर ले जाए . हम इनके उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएँ और अभिनंदन करते है ।